पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें

एशिया कप-ODI (2012)

इस मैच ने एक बार फिर साबित किया था कि स्कोर चेज करने के मामले में टीम इंडिया दुनिया की बेस्ट क्रिकेट टीम है. ढाका के शेर ए बांग्ला स्टेडियम में खेले गए इस मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसला किया. पाकिस्तान का फैसला सही साबित हुआ और उनके ओपनर नासिर जमशेद (112) और मोहम्मद हफीज (105) ने भारतीय गेंदबाजों को जमकर कसरत कराई. इन दोनों के शतकों की बदौलत पाकिस्तान ने 329 रन का विशाल स्कोर बनाया. इसके बाद बैटिंग करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ओपनर गौतम गंभीर पारी की दूसरी ही बॉल पर हफीज की नीची रहती गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए. इसके बाद सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली ने संभल कर बैटिंग करनी शुरू की. कोहली ने शुरू से ही कुछ अच्छे शॉट्स लगाकर अपना इरादा जाहिर कर दिया था. तेंदुलकर अच्छा खेल रहे थे लेकिन 52 रन के निजी स्कोर पर सईद अजमल की बॉल पर यूनिस खान को कैच थमा बैठे. इसके बाद आए रोहित शर्मा ने भी कोहली का पूरा साथ दिया. पिच के दूसरे छोर पर मौजूद कोहली ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की पिटाई जारी रखी. रोहित ने भी अच्छा खेल दिखाया लेकिन 68 रन के निजी स्कोर पर उमर गुल की गेंद पर अफरीदी को कैच थमाकर चलता बने. टीम इंडिया तब तक 305 रन बना चुकी थी और रोहित के बाद रैना क्रीज़ पर आए. जब ऐसा लग ही रहा था कि कोहली टीम इंडिया को जिताकर नाबाद पवेलियन लौटेंगे 183 रन के निजी स्कोर पर वो गुल की गेंद पर हफीज को कैच थमा बैठे. इस वक़्त टीम का स्कोर 318 रन था. कोहली ने अपनी इस विराट पारी में 22 चौके और 1 छक्का लगाया. भारत ने ये मैच 6 विकेट से जीता.

ICC T20 वर्ल्ड कप (2012)

श्रीलंका में खेले गए इस वर्ल्ड कप में भी एक ऐसा मौका आया था जब कोहली ने पाकिस्तान के सामने अपनी काबिलियत साबित की थी. कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए इस मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसल लिया. हालांकि पाक टीम का कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने टिककर नहीं खेल पाया और पूरी टीम महज 128 रनों पर ऑल आउट हो गई. भारत की तरफ से एल बालाजी ने 3 और युवराज-अश्विन ने 2-2 विकेट लिए. ख़ास बात ये है कि इस मैच में कोहली भी गेंदबाजी करते नज़र ऐ और उन्होंने पाक ओपनर हफीज को पेवेलियन का रास्ता भी दिखाया. इसके बाद बैटिंग करने आई टीम इंडिया की शरुआत ख़ास अच्छी नहीं रही और ओपनर गंभीर रज़ा हसन को कैच थामकर बिना खाता खोले ही चलता बने. इसके बाद आए कोहली ने सहवाग के साथ बढ़िया शॉट्स लगाए. जब जीत करीब ही नज़र आ रही थी सहवाग भी 29 रन के निजी स्कोर पर अफरीदी की गेंद पर गुल को कैच थमा बैठे. हालांकि कोहली आखिर तक टिककर खेलते रहे और उनके नाबाद 78 (8 चौके, 2 छक्के) रनों की बदौलत टीम इंडिया ने ये मैच 8 विकेट से जीत लिया. विराट मैं ऑफ़ द मैच रहे.

ICC ODI वर्ल्ड कप (2015)

वर्ल्ड कप समेत सभी बड़े टूर्नामेंट्स में पाकिस्तान ने भारत से अभी तक कोई मैच नहीं जीता है. पाकिस्तान पर इस बार भी दबाव था और टीम इंडिया पर भी इस सिलसिले को कायम रखने का दबाव था. भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसला किया और रोहित शर्मा-शिखर धवन क्रीज़ पर आए. अच्छे टच में चल रहे रोहित इस मैच में कुछ ख़ास नहीं कर पाए और 15 रन के निजी स्कोर पर सोहेल खान की गेंद पर मिस्बाह को कैच थमा बैठे. इसके बाद क्रीज़ पर विराट कोहली आए और उन्होंने धवन के साथ मिलकर बढ़िया शॉट्स लगाने शुरू किए. दोनों ने मिलकर स्कोर को 163 रन तक पहुंचाया. 73 रन के निजी स्कोर पर खेल रहे धवन रन आउट हो गए. इसके बाद सुरेश रैना क्रीज़ पर आए. रैना और कोहली ने भी जमकर बल्लेबाजी की हालांकि 46वें ओवर में 107 रन के निजी स्कोर पर कोहली सोहेल की गेंद पर गुल को कैच थमाकर आउट हो गए. भारत ने पाकिस्तान को जीत के लिए 301 रनों का टार्गेट दिया. चेज करने आई पाकिस्तानी टीम में मिस्बाह को छोड़कर और कोई भी बल्लेबाज 50 रन भी नहीं बना पाया. पाकिस्तानी टीम 224 रनों पर ऑल आउट हो गयी. भारत की तरफ से मोहम्मद शमी ने 4 और यादव-शर्मा ने 2-2 विकेट लिए. विराट मैन ऑफ़ द मैच रहे.

एशिया कप (2016)

ये ट्वंटी-ट्वंटी मैच भी ढाका के शेर ए बांग्ला स्टेडियम में खेला गया. भारत ने टॉस जीता और पहले बैटिंग करने के लिए पाकिस्तान को बुलाया. पकिस्तानी बैटिंग लाइन अप आउट ऑफ़ फॉर्म नज़र आया और सरफ़राज़ अहमद 25 रन बनाकर उनकी तरफ से टॉप स्कोरर रहे. पूरी पाकिस्तानी टीम महज 83 रनों के स्कोर पर निपट गई. भारत के सामने आसन लक्ष्य था लेकिन पाकिस्तान के पास था मैच फिक्सिंग के आरोपों के बाद बैन से से वापसी कर रहा तूफानी गेंदबाज मोहम्मद आमिर. आमिर ने टीम इंडिया के ओपनरों पर कोई रहम नहीं दिखाया. ओपनिंग करने आए रोहित शर्मा और अंजिक्य रहाणे पहले ही ओवर में बिना खाता खोले आमिर की आग उगलती गेंदों का शिकार हो गए. एक तरफ कोहली आए और दूसरी तरफ रैना. लेकिन रैना भी आमिर के सामने नहीं टिक पाए और तीसरे ओवर में आमिर की बॉल पर सिर्फ 1 रन के निजी स्कोर पर पवेलियन लौट गए. पूरे स्टेडियम में सन्नाटा छा गया लेकिन क्रीज़ पर कोहली डटकर खड़े हो गए. जब आमिर और शमी के सामने भारतीय बैटिंग भरभरा रही थी उसी दौरान कोहली को कोई भी पाकिस्तानी बॉलर हिला नहीं पा रहा था. टीम 76 रन पर थी और कोहली का निजी स्कोर 49 रन था तभी शमी की एक बढ़िया गेंद पर कोहली एलबीडब्ल्यू हो गए, इसके बाद आए पंड्या भी 0 पर आउट हो गए. हालांकि जीत के लिए सिर्फ 8 रन ही चाहिए थे जिसे एमएस धोनी और युवराज ने मिलकर पूरा कर दिया. कोहली को भरोसेमंद बल्लेबाजी के लिए मैन ऑफ़ द मैच मिला.

ICC T20 वर्ल्ड कप (2016)

पाकिस्तान अभी एशिया कप की हार को भुला भी नहीं पाया था कि T20 वर्ल्ड कप में दोनों टीमें फिर आमने-सामने थीं. मैच भारत में था जिससे टीम इंडिया पर जीत का दबाव बढ़ गया था. कोलकाता के ईडन गार्डन में खेले गए इस मैच में टॉस भारत ने जीता और पहले फील्डिंग करने का फैसला लिया. भारतीय गेंदबाजों की कसी हुई गेंदबाजी के सामने पाकिस्तानी बैटिंग लाइनअप कुछ ख़ास नहीं कर पाया और 26 रन बनाकर शोएब मालिक उनकी तरफ से हाई स्कोरर रहे. पाकिस्तान ने 18 ओवर में 5 विकेट पर 118 रन बनाए. आसन लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही और रोहित शर्मा 14 रन बनाकर तीसरे ओवर में आमिर का शिकार बने. इसके बाद कोहली क्रीज़ पर आए लेकिन 5वें ओवर में धवन 6 रन के निजी स्कोर पर चलते बने. इसके बाद आए रैना को शमी ने पहली ही बोल पर क्लीन बोल्ड कर पवेलियन लौटा दिया. कोहली डटे रहे और उन्होंने नाबाद 55 रन बनाकर भारत को जीत दिलाई. कोहली ही मैन ऑफ़ द मैच भी रहे.

Report Abuse

If you feel that this video content violates the Adobe Terms of Use, you may report this content by filling out this quick form.

To report a Copyright Violation, please follow Section 17 in the Terms of Use.